18 फरवरी को कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में रोमांच से भरे फाइनल में बांग्लादेश को हराकर भारत ने निदहास ट्रॉफी जीत ली. एक समय जीत भारत के हाथों से खिसकती नजर आ रही थी, लेकिन दिनेश कार्तिक ने सिर्फ़ आठ गेंदों में 29 रनों की धमाकेदार पारी खेल कर भारत को जीत दिला दी.

टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए भारत ने अपने स्पिन गेंदबाजों वाशिंगटन सुंदर और युजवेंद्र चहल की कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत बांग्लादेश को निर्धारित बीस ओवरों में 166 रनों पर रोक दिया. जवाब में खेलने उतरी भारतीय टीम के शुरुआती दो विकेट जल्दी ही गिर गए, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा ने एक छोर संभाले रखा और जरूरी रन गति भी बनाए रखने की कोशिश की. अर्धशतक पूरा करने के बाद रोहित शर्मा के आउट होते ही भारतीय टीम संकट में आती दिखाई दी. मनीष पांडे और विजय शंकर तेज गति से रन बनाने में सफल नहीं हुए और अंतत: रन गति बढ़ाने की कोशिश में आउट भी हो गये. आखिरी दो ओवरों में भारत को जीत के लिए 34 रन बनाने थे, जो काफी मुश्किल लग रहे थे. लेकिन दिनेश कार्तिक ने तीन छक्कों और दो चौकों की मदद से 29 रन बनाकर भारत को जीत दिला दी.

दिनेश कार्तिक को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया. पूरी सीरीज में शानदार प्रदर्शन के लिए वाशिंगटन सुंदर को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ का पुरस्कार मिला.

टूर्नामेंट की तीसरी टीम मेजबान श्रीलंका की थी, जो बांग्लादेश से हारकर पहले ही खिताब की दौड़ से बाहर हो गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *